झारखंड में गरीबों के लिए अनूठी पहल

2019-03-27 05:13:19
KTV24News झारखंड गरीबों का निशुल्क कपड़ा बैंक शुभारंभ 15.11.2015 झारखंड स्थापना दिवस पर इसकी शुभारंभ किया गया संचालक शौकत खान डायरेक्टर अलका बजाज गढ़वा हर शर्दीयो में त्योहारों में गरीबों के बीच जाकर कपड़ा समेत अन्य चिजे निशुल्क वितरण किया जाता है गरीबों के बीच गरीबों कि ग़रीबी देखकर मैंने कपड़ा बैंक का भव्य शो रूम बनाया अलका काम्प्लेक्स कचहरी रोड़ गढ़वा में जिसकी उद्घाटन कर्ता थे अनुमंडल पदाधिकारी राकेश कुमार एवं सीआरपीएफ कमांडेंट कैलाश आर्या एवं कपड़ा बैंक के संचालक शौकत खान एक वर्ष में ही एक लाख से अधिक गरीबों को राहत देने में सफल रहे है वो भी आम दानदाताओं के सहयोग से पहले वर्ष की सफलता से उत्साहित शौकत खान ने दुसरे वर्ष में बड़े पैमाने पर नये पुराने अच्छे कपड़ों का कलेक्शन कर फिर से ग्राँड ओपनिंग कराया गया सीआरपीएफ कमांडेंट कैलाश आर्य जी के हाथों दुसरे वर्ष भी गरीबों की रिकॉर्ड तोड भीड़ उमड़ने लगी और कई लाख गरीबों जरूरतमंदों को राहत देने में सफल रहे कपड़ा बैंक के संचालक शौकत खान ये दो वर्षों कि सफर में देश दुनिया तक अपनी पहचान बना चुकी थी कपड़ा बैंक कई बड़े बड़े आवर्ड भी प्रताप कर चुकी थी अवार्ड में थे एक शाम शहिदों के नाम में पलामू प्रमंडल में सबसे बेहतर समाज सेवी के लिए शौकत खान को चुना गया शौकत खान को सम्मानित करते गढ़वा विधानसभा के विधायक सतेन्द्रनाथ तिवारी जी नगर भवनाथपुर के विधायक भानु प्रताप शाही जी इस कार्यक्रम के आयोजक आरक्षी अधीक्षक मो0 अर्सी जी संयुक्त रूप से शौकत खान को शाँल ओढ़ाकर मोमेंटो देकर सम्मानित किए एक दिन में दो बड़ा अवार्ड कपड़ा बैंक के संचालक शौकत खान को मिला अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर पहला नगर उटांरी में राष्ट्रीय मानवाधिकार के राष्ट्रीय अध्यक्ष झारखंड के प्रदेश अध्यक्ष एवं नगर उटांरी के थाना प्रभारी के हाथों मेमोंटो देकर सम्मानित किया गया दुसरा अवार्ड पलामू में एक शाम पुलिस के नाम कार्यक्रम में पलामू प्रमंडल में सबसे बेहतर समाज सेवी का खिताब शौकत खान को मीला पलामू प्रमंडल के डीआईजी विपुल शुक्ला सर के हाथों डीआईजी विपुल शुक्ला सर ने शौकत खान को शाँल ओढ़ाकर मोमेंटो देकर सम्मानित किए एक और बड़ा अवार्ड पलामू में मीला स्व0 नईमुद्दीन आवर्ड से सम्मानित किया गया शौकत खान को पलामू प्रमंडल में सबसे बेहतर कार्य करने का अवार्ड ================ दुसरा प्रोजेक्ट शुरू किया मैंने निशुल्क सत्तू बैंक ग़रीब राहगीरों के लिए गर्मी के मौसम में सत्तु के जूस पीलाने का इसके उद्घाटन कर्ता थे अनुमंडल पदाधिकारी प्रदीप कुमार एवं शहीद आशिष तिवारी के माता-पिता एवं संचालक शौकत खान पहला वर्ष 51 दिनों में 18 हजार गरीबों को शौकत खान ने पेट भरने का काम किया वो भी आम दानदाताओं के सहयोग से सत्तू बैंक के समापन के साथ गरीबों के लिए खोला गया निशुल्क चावल बैंक जहां गरीबों को प्रत्येक दिन उत्तम क्वालिटी कि चावल निशुल्क वितरण किया जाता है बड़े को दो किलो और बच्चों को एक किलो इसके उद्घाटन कर्ता थे गढ़वा जिला प्रधान एवं सत्र न्यायाधीश पंकज श्रीवास्तव सीआरपीएफ कमांडेंट कैलाश आर्य अनुमंडल पदाधिकारी प्रदीप कुमार जेल अधीक्षक साकेत बिहारी सिंह एवं अनेक निशुल्क बैंक संचालक शौकत खान एक वर्ष में चावल बैंक से 60 हजार से अधिक गरीबों को राहत देने में सफल रहा शौकत खान वो भी आम दानदाताओं के सहयोग से दुसरे वर्ष गर्मी में फिर से शुभारंभ किया गया निशुल्क सत्तू बैंक एवं शुद्ध शितल आर ओ पानी फ्रिजर इसके उद्घाटन कर्ता थे गढ़वा पुलिस कप्तान मो0 अर्सी एवं शहीद के पीता जी एवं अनेक निशुल्क बैंक के संचालक शौकत खान दुसरे वर्ष दो महीने चले सत्तू बैंक में दो महीने में तीस हजार से अधिक गरीब राहगीरों को पेट भरने में सफल रहे है वो भी आम दानदाताओं के सहयोग से चौथा निशुल्क बैंक हमने खोला गरीबों का निशुल्क पुस्तक बैंक इस पुस्तक बैंक से पहली से पांचवीं कक्षा के छात्र छात्राओं को पढ़ने की सभी सामग्री निशुल्क दी जाती है जैसे किताब,कापी,पेन,पेन्सील,सिलेट,स्कुल बैंग, मोजा,जुता, कलर वैगरह वगैरह इसके उद्घाटन कर्ता थे गढ़वा शिक्षा अधिक्षक जीला जज गढ़वा डीएसपी गढ़वा एवं अनेक निशुल्क बैंक के संचालक शौकत खान पुस्तक बैंक में प्रत्येक दिन लगती है लम्बी कतारें पुस्तक बैंक से अब तक चालीस हजार से अधिक बच्चों के बीच निशुल्क पाठ्य सामग्री वितरण कर गरीब बच्चों को शिक्षित करने में मदद किया शौकत खान ने इसके सहयोगी बने पलामू के मसहुर कपल डोकटर डॉ राहत निजाम डॉ अनवर निजाम एवं आम दानदाता ये सभी अनेक निशुल्क बैंक को बीस से अधिक अवार्ड मिल चुके हैं इस अनेक निशुल्क बैंक में देश विदेश के लोगों भी गढ़वा के निशुल्क बैंक को देखने पहुंचे जिसमें प्रमुख आने वाले में थे इंडोनेशिया से, सउदी अरब से, दुबई से, दिल्ली से मुम्बई से, वाराणसी से, झारखंड के अनेक जिले से, छत्तीसगढ़ मध्यप्रदेश से, उत्तर प्रदेश से, एवं अन्य राज्यों के लोग कपड़ा बैंक देखें एवं कपड़े डोनेट किए बहुत लोगों ने शौकत खान की पहल पर बहुत जगहों पर कपड़ा बैंक खोला गया लगभग तीन साल के सेवा कार्य में पांच सौ से अधिक लोगों ने कपड़ा बैंक में अपना एवं अपने परिजनों का जन्मदिन मनाया शादी कि शालगिरह एवं पुन्यतिथी भी लोगों ने गरीबों के बीच बनाया जिसमें जज , कमांडेंट, एसपी समेत कई बड़े अधिकारी यहां आ चुके हैं ये भी निशुल्क बैंक झारखंड के पहले शौर्य चक्र विजेता शहीद आशिष कुमार तिवारी के सम्मान में संचालित किया जाता है इसके संचालक है अलका बजाज के डायरेक्टर शौकत खान गढ़वा झारखंड इस निशुल्क बैंक को चलाने में 20 से 25 रुपए शौकत खान के खर्च होते जो शौकत खान अपने हक और इमानदारी से कमाएं हुए पैसे गरीबों में ख़र्च करते हैं और जितने भी निशुल्क बैंक शौकत खान के द्वारा संचालित किया जाता है इस में किसी से भी एक पैसा सहयोग में नहीं लिया जाता है वो चाहे VIP हो या शौकत खान के परिजन किसी से भी एक पैसा नहीं लिया जाता है गरीबों के लिए जो लोग सहयोग के लिए आते हैं गरीबों के काम आने वाले सामाग्री ही स्विकार किये जातें हैं और सबसे महत्वपूर्ण बात हमारी ना कोई NGO है ना कोई राजनीतिक से कोई वास्ता है और ना कभी आजिवन NGO बनाउंगा और ना कभी आजिवन राजनीति में जाउंगा मेरा तो छोड़िए मेरे परिवार का कोई भी सदस्य कभी भी राजनीतिक में नहीं जाएगा आम लोगों के सहयोग से आजिवन गरीबों के सेवा में निस्वार्थ समर्पित रहुगा और अपने जिले एवं राज्य झारखंड समेत देश हित में अच्छे कार्य कर देश का नाम रौशन करूंगा

संबंधित ख़बरें

Advertise With Us